पीएम ने बिना नाम लिए कांग्रेस पर निशाना साधा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए विपक्ष पर निशाना साधा।  पीएम ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को भारत रत्न देने के फैसले का जिक्र करते हुए विपक्ष के उस आरोपों पर भी पलटवार किया, जिसमें कहा गया था कि उन्होंने पहले की सरकारों के योगदान को नकार दिया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने बिना नाम लिए कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कल सदन में नारे लगाए जा रहे थे, आज 25 जून है। आगे उन्होंने कहा कि कई लोगों को तो पूरी जानकारी भी नहीं है कि 25 जून को क्या हुआ था, लेकिन ऐसे में यह याद दिलाना जरूरी है कि 25 जून की रात देश की आत्मा को कुचल दिया गया था।

उस समय मीडिया के मुंह पर ताले लगाए गए और पत्रकारों को दबोच लिया गया था। उन्होंने कहा भारत में लोकतंत्र संविधान के पन्नों से पैदा नहीं हुआ है, लोकतंत्र सदियों से हमारी परंपरा हैए। देश में आपातकाल के दौरान बेकसूर लोगों को सलाखों के पीछे धकेल दिया गया, सत्ता बचाने के लिए देश को जेल खाना बना दिया गया था।

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका का फैसला था, कोर्ट का अनादर कैसे होता है, उसका वह जीता-जागता उदाहरण है। पीएम ने कहा कि आज हमें लोकतंत्र के प्रति फिर एक बार अपना संकल्प समर्पित करना होगा। उस समय जो भी इस पाप के भागीदार थे, ये दाग कभी मिटने वाला नहीं है।

इसका स्मरण करना भी जरूरी है, ताकि फिर कोई पैदा न हो जिसे इस रास्ते पर जाने की इच्छा हो जाए। उन्होंने कहा कि यह किसी को भला-बुरा कहने के लिए नहीं है। मोदी ने आगे कहा कि हम देश को आगे बढ़ाने के लिए हमेशा बड़ी सोच रखते है, कुछ तो इतने ऊंचे पर चले गए हैं कि उन्हें जमीन दिखाई ही नहीं देती है। जब हमने नर्मदा पर डैम बनाया तो कुछ लोगों ने विरोध किया, लेकिन आज उसी डैम से चार करोड़ लोगों को पानी मिलता है। पानी मिलने से वहां आसपास के लोगों की सारी मुसीबत दूर हो चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!