अनंतनाग:  आतंकी हमले में रमेश के शहीद होने की खबर सुनते ही गांव में पसरा सन्नाटा, देखें अब तक हुए बड़े हमलों की लिस्ट

नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में मारे गए 5 जवानों में झज्जर के गांव खेड़ी जट्ट का रमेश भी शहीदों की सूची में शामिल है . रमेश की शहादत की खबर बीती देर शाम गांव खेड़ी गेट में सेना के अधिकारियों ने उसके परिजनों को दी.

सूचना मिलने के बाद ही जहां रमेश का परिवार मातम में डूब गया, वही इस खबर के बाद गांव में भी लोग गमगीन माहौल में डूब गए. सूचना के बाद से शहीद रमेश के घर सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ है और शहीद रमेश के परिवार के साथ-साथ पूरे गांव के लोग जहा, रमेश की शहादत को देश के लिए गर्व की बात बता रहे हैं.

वही वह यह भी कह रहे हैं कि बेशक आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला करने के बाद सेना के 5 जवानों पर हमला किया, लेकिन सेना की तरफ से जो सूचना मिली है उसके अनुसार शहीद रमेश ने मां भारती पर अपने प्राण न्योछावर करने से पहले एक आतंकी को अपनी गोली का शिकार बनाया.

शहीद रमेश के परिजनों को सेना के अधिकारियों ने सूचना दी है के शहीद रमेश का शव गुरुवार की शाम 5:00 बजे गांव में पहुंचेगा. उसके बाद ही शहीद रमेश का राजकीय सम्मान के साथ गांव में अंतिम संस्कार किया जाएगा, शहीद भाई की आतंकी हमले में हुई मौत पर गमगीन माहौल में डूबे रमेश के भाई राजेश ने बताया की पूरे क्षेत्र को रमेश की शहादत पर गर्व है.

राजेश ने बताया कि पिछले दिनों रमेश भांजे की शादी में शरीक होने के लिए आया था और यहां भारत की रसम अदा करने के बाद वह कह कर गया था की अब दोबारा छुट्टी आएगा तो वह अपने मकान को बनाएगा लेकिन उन्हें नहीं पता था कि उनके भाई का यह सपना अधूरा रहेगा.

राजेश का यह भी कहना है की उन्हें उम्मीद है कि सरकार रमेश के दोनों बेटे रोहित और मोहित जोकि ग्रेजुएट हैं को भी सेना में भर्ती होने का मौका देगी ताकि वह भी अपने पिता की तरह मां भारती की रक्षा कर सकें गांव को गर्व है शहीद पर और शहीद के दोनों बेटो को भी अपने पिता की शहादत पर नाज है.

जानें कब-कब हुए घाटी में बड़े आतंकी हमले:

  • 14 फरवरी 2019 – अवंतिपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर हमला, 40 जवान शहीद
  • 10-11 फरवरी 2018 – सुंजवां सेना कैंप आतंकी पर हमला, छह जवान शहीद
  • 26 अगस्त 2017 – पुलवामा पुलिस लाइन में आतंकी हमला, आठ जवान शहीद
  • 27 अप्रैल 2017 – पंजगाम में सेना के कैंप पर हमला, तीन जवान शहीद
  • 17 अगस्त 2016 – श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर सेना के काफिले पर हमला किया,  आठ शहीद
  • 25 जून 2016 – श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर सीआरपीएफ काफिले पर हमला, आठ जवान शहीद
  • 29 नवम्बर 2016 – नगरोटा में आर्मी कैंप पर हमला, सात जवान शहीद
  • 18 सितम्बर 2016 – उरी में सेना कैम्प पर हमला, 19 जवान शहीद
  • 2 जनवरी 2016 – पठानकोट एयर बेस पर हमला, सात जवान शहीद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!