अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू हो रही है

अमरनाथ यात्रा की शुरुआत 1 जुलाई से दोनों मार्गों पर एक साथ होगी. अमरनाथ यात्रा के लिए यात्रियों के रजिस्ट्रेशन की शुरुआत 1 अप्रैल से हो चुकी है. इसमें यात्रा के दोनों मार्ग बालटाल और पहलगाम से यात्रा करने वाले श्रद्धालु आवेदन कर सकते हैं.इसके लिए यात्रियों को भारत भर में बैंकों की नामित शाखाओं के माध्यम से श्री अमरनाथ यात्रा 2019 पंजीकरण करना होगा. इसके लिए आप जम्मू-कश्मीर बैंक, पंजाब नेशनल बैंक या फिर येस बैंक के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं. इस पंजीकरण के लिए सबसे ज़रूरी दस्तावेज़ स्वास्थ्य प्रमाण पत्र है. इसके लिए आपको मूल प्रमाण पत्र या उसकी प्रति लगाना अनिवार्य है.

बोर्ड की वेबसाइट पर लाइसेंस प्राप्त डॉक्टरों और संस्थानों के राज्य के हिसाब से नाम दिए गए हैं. इस तीर्थयात्रा के लिए यात्रियों को 15 फरवरी 2019 के बाद जारी किए गए हेल्थ सर्टिफिकेट पर ही विचार किया जाएगा. आवेदन फॉर्म के साथ हेल्थ सर्टिफिकेट के अलावा आपको चार पासपोर्ट साइज़ फोटो भी देनी होंगी.कौन नहीं कर सकता यात्रा- बता दें इस यात्रा के लिए 13 से कम और 75 से ज़्यादा उम्र के लोग नहीं जा सकते. इसके अलावा छह सप्ताह से ज़्यादा की गर्भवती महिलाएं अमरनाथ यात्रा नहीं कर सकती हैं. बता दें इस साल की तीर्थयात्रा के लिए दिए गए परमिट हफ्ते के हर दिन के हिसाब से अलग-अलग होंगे. यात्रा की सुगमता और सिक्योरिटी की वजह से कलर कोडिंग का इस्तेमाल बालटाल और पहलगाम के एक्सेस कंट्रोल गेट पर किया जाएगा. जिससे कि वहां तैनात सुरक्षाबलों को निगरानी करने में आसानी हो.

हेलिकॉप्टर से यात्रा के लिए ऐसे करें आवेदन- यदि आप हेलीकॉप्टर से यात्रा के लिए जाना चाहते हैं तो इसके लिए भी 1 मई से आवेदन शुरू हो गए हैं. इसके लिए आपका एक तरफ का यात्रा शुल्क 1804 रुपये होगा वहीं दोनों तरफ का खर्च 3104 रुपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से होगा.इसके लिए आपको रजिस्ट्रेशन की ज़रूरत नहीं होगी क्योंकि ऐसे यात्रियों की पूरी जांच हेलिकॉप्टर मिलने की प्रक्रिया के दौरान हो जाएगी. लेकिन उन्हें भी हेल्थ सर्टिफिकेट देना अनिवार्य होगा. अमरनाथ यात्रा कुल 46 दिनों तक चलेगी और सावन की पूर्णिमा यानी रक्षाबंधन के दिन 15 अगस्त 2019 को खत्म होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!