प्रेम मिलन (कोलकाता) द्वारा हुगली मे छाता एवं पंखा वितरण

कोलकाता :मौसम मे बदलाव प्राकृतिक का स्वभाव है। जहां संपन्न व्यक्ति तरह-तरह से बदलते मौसम का आनंद उठाने में व्यस्त रहता है वहीं निम्न व गरीब लोगों के लिए मौसम का बदलाव पीड़ा और कष्ट लेकर आता है। सर्दी व बारिश के दिनों में तो इस तबके के लोग को परेशानी होती ही है लेकिन ज्यादा परेशान प्रचंड गर्मी से होती है। ऐसे ही लोगों की पीड़ा को गंभीरता समझते हुए प्रेम मिलन (कोलकाता) ने शहर से 65 किलोमीटर दूर जाकर हुगली जिले के हरिपाल के शांतिपूर भावेंद्र स्कुल मे  बच्चों के 600 छातें और 20पंखे बांटकर इनकी पीड़ा का कुछ हद तक कम करने का प्रयास किया। शुक्रवार को आयोजित छाता व पंखा वितरण समारोह में समाजसेवी दामोदर मोर, हेडमास्टर समरनाथ दे, श्रीमती ज्योति सराफ, सचिव चन्द्रकांत सराफ, समेत कई लोग उपस्थित थे। सभी वक्ताओं ने अपने-अपने संबोधन में कहा कि आज की सेवा को देखकर यह कहा जा सकता है कि प्रेम मिलन (कोलकाता) सही मायने में सेवा का परिचायक है। आंख व दंत चिकित्सा के क्षेत्र में तो प्रेम मिलन (कोलकाता) सराहनीय व अतुलनीय कार्य कर ही रहा है, इसके अलावा समय-समय पर जरूरतमंद लोगों को उनकी आवश्यकता के मुताबिक विभिन्न सामग्री बांट कर सचमुच मानव धर्म का पालन कर रहा है। सूरज चोखानी, रवीन्द् अग्रवाल,संदीप तोदी, प्रवीण लोहिया, अशोक बैद एवं अशोक गांधी का विशेष सहयोग रहा। सचिव  चन्द्रकांत सराफ ने कहा कि भीषण गर्मी मे बच्चों को छाता एवं स्कुल मे पंखे लगाने से बच्चों को कुछ हद तक र्गमी से बचने के लिए सहायक भूमिका रहेगी, कयोंकि बच्चे चार -पाँँच किलोमीटर पैदल चल कर स्कुल आते है, और उमसभरी गर्मी से बचाव होगा साथ ही ठंडे दिमाग से पढाई मे मन लगा पाएंगे । कार्यक्रम को सफल बनाने में नरेश शर्मा, रतन जायसवाल, मनोज जायसवाल, प्रशांतो माझी, सुभाशीष बीसवास आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!