माता वैष्णो देवी यात्रा के दौरान हेलीकॉप्टर सेवा का किराया अब 1045 रुपये देने होंगे

कटरा। माता वैष्णो देवी यात्रा के दौरान हेलीकॉप्टर सेवा का लाभ उठाने वाले श्रद्धालुओं को अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे। टर्बाइन फ्यूल (जेट ईंधन) महंगा होने के चलते हेलीकॉप्टर सेवा मुहैया करवा रही संबंधित कंपनियों ने किराए में बढ़ोतरी कर दी है। ऐसे में श्रद्धालुओं को प्रति सवारी एक तरफा 40 रुपये अतिरिक्त अदा करना पड़ेंगे यानी श्रद्धालुओं को अब एक तरफा 1005 रुपये किराए के बजाय अब 1045 रुपये देने होंगे। यह किराया तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

मां वैष्णो देवी आधार शिविर कटड़ा में दो हेलीकॉप्टर कंपनियां श्रद्धालुओं को अपनी सेवाएं मुहैया करवा रही हैं। इनमें पवन हंस हेलीकॉप्टर सर्विस तथा हिमालयन हैली प्रमुख हैं। रोजाना करीब 1500 से 2000 श्रद्धालु इस सेवा का लाभ उठाते हैं। यात्रा पर आने वाले बुजुर्ग, मरीज या फिर दिव्यांगों को इस सेवा में विशेष छूट दी जाती है। हेलीकॉप्टर से यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं को कम किराये में बेहतर हेलीकॉप्टर सेवा मुहैया हो इसके लिए श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड टैंडर प्रक्रिया के जरिए कंपनियों का चयन करता है।बोर्ड हर तीन साल बाद हेलीकॉप्टर सेवा की टेंडरिग करता है।

1986 में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड का गठन हुआ था। बोर्ड ने 1990 में सबसे पहले श्रद्धालुओं के लिए हेलीकॉप्टर शुरू की। तब मां के भक्तों को यह सेवा मात्र 300 रुपये प्रति सवारी प्रदान की जाती थी। वर्ष 1992 में सेवा मुहैया करवा रही कंपनी पवन हंस का हेलीकॉप्टर सांझी छत के समीप हेलीपैड के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। श्राइन बोर्ड ने इसके बाद यह सेवा बंद कर दी।लेकिन 8 वर्ष बाद साल 2000 में एक बार फिर हेलीकॉप्टर सेवा शुरू की गई।

माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए हर साल 80 लाख से एक करोड़ के बीच श्रद्धालु आते हैं। हर दिन 1500 से 2000 हजार श्रद्धालु हेलीकॉप्टर सेवा के माध्यम से मां वैष्णो देवी के दर्शनों को जाते हैं। गर्मियों में एक हेलीकॉप्टर कंपनी जहां 90 से 100 उड़ान भरती है वहीं सर्दियों में दिन छोटे होने के कारण यह कम होकर 60 से 70 के करीब हो जाती है।

मांग अधिक रहने और ऑनलाइन बुकिग फुल रहने के कारण हजारों श्रद्धालु यात्रा पर नहीं आ पाते। ऐसे में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड इसका विस्तार करने जा रहा है। जल्द ही भवन मार्ग पर बनाए गए वीवीआइपी पंछी हेलीपैड को भी श्रद्धालुओं को समर्पित कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!